Drama MovieFamily Movie

Angrezi Medium Full Movie Online Review

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका Angrezi Medium Full Movie Online Review में  . इस फिल्म में दो सब्जेक्ट्स को एक दूसरे के साथ चलाने की कोशिश की गई है, एक तरफ तो पापा और बेटी के रिलेशन को दिखाया गया है जो बड़ी ही आसानी से आप सभी को समझ आ जायगा।  एक ऐसा रिश्ता जो बचपन से जवानी तक और उससे भी आगे ले जाता है और सही गलत का फैसला लेने  में आपकी मदद करता है।

Angrezi Medium Full Movie Online Review

 

दूसरी तरफ एजुकेशन के ऊपर चल रही राजनीती के ऊपर से पर्दा हटाने कोशिश की गई है जिसमे पैसे और पावर के दम पर असली हक़दार को उससे अलग क्र दिया जाता है ,

फिल्म की कहानी  एक बिज़नेस मैन  लिखी गई है जो उदयपुर में मशहूर दादा पारदड़ा घिसटा राम की मिठाई  चलाते है।  इनको बड़े बड़े सपने देखने का कोई शोक नहीं है काफी साधारण सी जिंदगी जीने में यकीन रखते है।  इनकी जिंदगी की शुरआत इनकी बेटी से होती है जिसकी हर जिद्द पूरी करने के लिए अपनी सासों को भी दांव पे लगा सकते है।

Angrezi Medium Full Movie Online Review

लेकिन इनकी बेटी तरीका इनसे बिलकुल उल्टा सोचती है लाइफ में ऊँचे ऊँचे सपने देखती है और वो उदयपुर से बाहर निकल कर पूरी दुनिया की सैर करना करना चाहती है।  अपनी जिंदगी अपने उसूलों से जीना चाहती है और जवानी में मिलने वाली हेर आज़ादी को पाना चाहती है। और लाइफ में आने वाली हेर चुनौती को अपने पापा के बिना मदद के उनका सामना करना चाहती है।

Read More : Baaghi 3 Full Movie Online Review in Hindi

कहानी में मोड़ तब आता है जब तरीका लन्दन में पढ़ाई के सपने देखने लगती है और उसके पापा चम्पक उसके खिलाफ खड़े हो जाते है।  एक तरफ पिता का पनि बेटी के लिए प्यार है तो उसरी तरफ बेटी का विदेश में पढ़कर अपनी  बनाने का सपना है।

कोन किस पर भरी पड़ता है  चम्पक अपनी  वीदेश जाकर पढ़ाई करने की जिद्द पूरा कर पायंगे , क्या एक मिडिल क्लास आदमी को इतने ऊँचे  देखने का हक़ है ?, सबसे बड़ा सवाल पैसे चलने वाली इस दिनिया में एक बाप बेटी का प्यार  एजुकेशन सिस्टम को चुनौती दे पाएगा ? इन सभी सवालो का जवाद देने का काम करती है Angrezi Medium.

 इस फिल्म के बारे में आप अपनी राय निचे कमेंट बॉक्स में दे सकते है। 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close