Web series

Panchayat Web Series Online Review

Panchayat Web Series Online Review में स्वागत है दोस्तों।  यह सीरीज आपको Amazon Prime पर देखने को मिलेगी।  इस सीरीज में कुल 8 एपिसोड है जो कुल मिलाकर चार घंटे के होने वाले हैं।

Panchayat Web Series Online Review

Panchayat Web Series story

सीरीज की कहानी अभिषेक नाम के एक इंजीनियर के इर्द गिर्द लिखी गई है। जो कॉलेज से निकलने के बाद एक नौकरी की तलाश कर रहे हैं जो  उत्तर प्रदेश के एक छोटे से गांव फुलेहरा में खत्म होती है जहां उन्हें पंचायत के सेक्ट्री मतलक के सचिव की नौकरी मिलती है।

यहाँ पे इनकी एंट्री होती है एक अजीब से गांव में जहाँ लोग दिल के बहुत अच्छे हैं लेकिन दिमाग लगाने में थोड़ा सा संकोच करते हैं। किसी भी बात का जवाब आपको सीखा नहीं मिलेगा। अगर दरवाजा बंद है तो ताले की जगह दरवाजे को ही तोड़ दो। गांव  की प्रधान है मंजू देवी जो थोड़ी कम पढ़ी लिखी है।

इनकी जगह इनके पति ही गांव के प्रधान का काम करते हैं। लोगो की मुश्किलों को ये चुटकी में सुलझा देते हैं हुए दिल के काफी नैक हैं।  कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब अभिषेक गाँव की जिंदगी और वाहन के लोगो से अपना पीछा छुड़ाने के नए नए तरीके आजमाने लगते हैं।  तब उनके दिमाग में CAT  वाला आईडिया आता है जो उनको गांव से निकलकर सीधा mba  के कॉलेज तक ले जा सकता है।

क्या पढाई करके अच्छी नौकरी और मोती तनख्वा पाना ही अच्छी जिंदगी बना सकता है या फिर गांव में ऐसा जादू है जिससे शहर वाले लोग अभी तक अनजान है ?, क्या मंजू के पति का इस तरह प्रधान का काम संभालना गैर क़ानूनी है ?, क्या अभिषेक CAT  का एग्जाम पास करके गॉव से निकल कर अपना सपना पूरा करेगा।  इन सब सवालो के जवाब देने का काम करती है Panchayat Web Series Online.

सीरीज की खासियत छुपी हुई इसके मजेदार कांसेप्ट में जो 100 % हकीकत है और हमारे समाज को दो हिस्सों में बाटने का काम करता है। एक तरफ है गांव वालो की जिंदगी जो इंसानियत को सबसे ऊपर और पैसे को सबसे निचे रखते हैं। हेर बात में इमोशन छुपे होते हैं जिनके पीछे न कोई लालच होता और न ही कोई मतलब। छोटी छोटी बात में खुशियां ढूंढ लेते है और रात को चैन की नींद सोते हैं।

दूसरी तरफ है शहर वालो की जिंदगी।  जो चौबीस घंटे एक दूसरे से आगे निकलने की रेस में भागते रहते हैं। सपने इतने बड़े जिनको पूरा करने में पूरी जिंदगी खर्च हो जाये और हर बात के पीछे अपना फायदा ढूंढ़ते रहना। अब कैसे इन दोनों हिस्सों पे उतरा गया है वो दखने लायक है।

शो का क्रेडिट काफी हद तक उसके लेखक को देना चाहिए जिन्होंने काफी अच्छे से गॉंव में रहने वालो के डायलॉग्स को रखा है।  हेर एपिसोड में एक जंग देखने को मिलती है जिसमे लोगो की परेशानियों को अप्रधान और अभिषेक अलग अलग नज़रिये से सुलझाने की कोशिश करते है।

अगर आपको यह सीरीज देखनी तो अभी Amazon Prime को सब्सक्राइब करें और इस सीरीज का आनंद उठाये।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close